अलीगढ़

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर सपा मुखिया ने सीयर देवी के दर्शन किये, हवन कार्यक्रम में भी हुये शामिल

यूपी में पंचायत चुनाव को लेकर कोई भी दल कोर कसर बाकी नहीं रखना चाहता. इस बीच अखिलेश यादव ने फिरोजाबाद में सियर देवी मंदिर में दर्शन कर जातिगत समीकरण साधे.

उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव नजदीक आते ही राजनीतिक पार्टी के नेताओं का मंदिरों में मत्था टेकने का दौर भी शुरू हो गया है. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सोमवार को टूंडला स्थित सियर देवी मंदिर पहुंचे, जहां पर उन्होंने मंदिर में लाल झंडा (नेजा) चढ़ाया और मंदिर हवन कार्यक्रम में भी भाग लिया.

निषाद जाति के लोगों की कुल देवी का मंदिर

गौरतलब है कि, उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव नजदीक हैं और सभी राजनीतिक दल जातिगत समीकरण फिट करने में जुटे हैं. सियर देवी मंदिर निषाद जाति की कुलदेवी हैं और आसपास का इलाका भी निषाद बाहुल्य है. काफी समय पहले टूंडला की सीट जो समाजवादी पार्टी का गढ़ हुआ करता था अब समाजवादी पार्टी के पास नहीं है. यहां पर बघेल समाज और निषाद समाज चुनाव जीतने में अहम रोल अदा करता है. वैसे तो अखिलेश के दौरे को समाजवादी पार्टी ने राजनीति का रूप नहीं दिया है. जिला प्रशासन ने भी चुनावी सभा की अनुमति नहीं दी थी. सपा मुखिया अखिलेश यादव ने केवल पूजा अर्चना की और किसी भी सभा को संबोधित नहीं किया. इस दौरान अखिलेश यादव ने तमाम मुद्दों पर खुलकर बात की.


जब उनसे पूछा गया कि, आपने सीयर देवी से क्या मांगा तब उन्होंने कहा कि, मुझे खुशी है दर्शन करने आज दोबारा मुझे खुद आना पड़ा. यह बहुत ही बड़ा ऐतिहासिक स्थल है. यहां किसानों की और तमाम लोगों की आस्था जुड़ी हुई है और यह कुछ लोगों की कुलदेवी भी हैं. सीयर देवी का आशीर्वाद मिलने के बाद सारे कष्ट दूर हो जाते हैं उनकी समस्याओं का समाधान हो जाता है.

बाजीपुर में नक्सली हमले को लेकर उन्होंने कहा कि, दुख है इस बात का जो लगातार नक्सलियों और पैरा मिलिट्री फोर्स का मुकाबला होता है. बड़ी संख्या में जान गई हैं, मैं उन शहीदों को याद करता हूं और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. उन्होंने कहा कि, मेरी मांग यही है कि सरकार इन शहीदों का पूरा सम्मान करे.

बीजेपी सरकार पर साधा निशाना

मुख्तार अंसारी को यूपी शिफ्ट किये जाने पर उन्होंने कहा कि, देश का कानून सब मानते हैं. सपा मुखिया ने बीजेपी पर निशाना साधते हुये कहा कि, जिस तरीके से भारतीय जनता पार्टी काम करती है, जिस तरीके से उनका कामकाज है, यह उम्मीद करना कि न्याय किसी को मिल पाना मुश्किल है. आज जो भाषा मुख्यमंत्री ने बोली है ऐसी भाषा लोकतंत्र में किसी मुख्यमंत्री ने नहीं बोली होगी. बोलते हैं कि, ठोक दो, पेट में दर्द है तो पटक के मारो और विधानसभा में जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल हुआ शायद लोकतंत्र में शर्म से सर झुक जाना चाहिए.


गरीबों का हो फ्री वैक्सीनेशन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कोरोना टीका लगवाने के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि, जिस समय फ्री वैक्सीन सभी को लग जाएगी और आने वाले समय में सरकार यह बताये कि कब तक गरीबों को वैक्सीन लग जाएगी, सरकार यह भी बताए सबसे प्रसिद्ध जो संस्थाएं हैं, वहां के डायरेक्टर और डायरेक्टर के साथ जो डॉक्टर हैं या उसी विभाग के रहे पूर्व डायरेक्टर अगर दो डोज लग जाने के बाद उन्हें कोरोना हो रहा है तो आखिरकार यह बीमारी हो क्यों रही है? तमाम डॉक्टर ऐसे हैं जिनको दो- दो डोज मिलने के बाद भी उन्हें बीमारी हो रही है. तो यह सवाल किसके ऊपर किया जाए, इसलिए सरकार पूरी सफाई के साथ आए और गरीबों को फ्री वैक्सीन लगाए. जब तक गरीबों को फ्री वैक्सीन नहीं लगेगी तब तक समाजवादी पार्टी के लोग इंतजार करेंगे और समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी तो सभी गरीबों को फ्री वेक्सीन लगेगी.

Related posts

अलीगढ़ की सड़को पर घूम रहे है वर्दी वाले देवदूत

dnewsnetwork

अमुवि के भौतिकी विभाग के न्यूट्रिनो फिज़िक्स ग्रूप ने विश्वविद्यालय की प्रतिष्ठा को बढ़ाया

dnewsnetwork

सुखद खबर- 53 कोरोना पॉजिटिव मरीज हुए स्वस्थ, किया गया डिस्चार्ज

dnewsnetwork