अलीगढ़ देश शिक्षा

अमुवि के यूनानी मेडिसिन संकाय द्वारा एक एक्सट्रा मूराल व्याख्यान श्रृंखला का हुआ आयोजन

अलीगढ़, 19 नवंबरः अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के यूनानी मेडिसिन संकाय द्वारा एक एक्सट्रा मूराल व्याख्यान श्रृंखला का आयोजन किया जिसमें किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय, लखनऊ के जेरियाट्रिक मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर कौसर उस्मान ने ”नान-अल्कोहलिक फैटी लिवर डिजीज” विषय पर व्याख्यान प्रस्तुत किया।
प्रोफेसर उस्मान ने कहा कि लिवर की बीमारी दुनिया में सबसे आम बीमारी है और शायद यकृत कैंसर का प्रमुख कारण है। यह लिवर प्रत्यारोपण का एक प्रमुख कारण भी है।
उन्होंने कहा कि इस बारे में चिकित्सा विशेषज्ञों में जागरूकता की कमी है जबकि गैर-अल्कोहल फैटी लिवर के लिए मधुमेह रोगियों की अकसर जांच की जानी चाहिए।
नेशनल इंस्टीट्यूट आफ यूनानी मेडिसिन, बैंगलोर के डिपार्टमेंट आफ इलाज बित तदबीर के अध्यक्ष प्रोफेसर अब्दुल नसीर अंसारी ने ”मानसिक रोग में उपचार के प्रभावी उपचार” विषय पर बात की। उन्होंने मानसिक बीमारी के विभिन्न पहलुओं, इसके चिकित्सकीय निहितार्थ, नैदानिक और चिकित्सीय उपायों की भूमिका पर प्रकाश डाला।
इससे पूर्व व्याख्यान श्रृंखला के संयोजक प्रोफेसर मुहम्मद अनवर ने एक स्वागत भााण दिया।
यूनानी चिकित्सा संकाय के डीन प्रोफेसर अब्दुल मन्नान ने अपनी समापन टिप्पणी में कहा कि चिकित्सा विज्ञान में नवीनतम प्रगति के बावजूद, रोगियों की संख्या बढ़ रही है, इसलिए रोकथाम की रणनीतियों पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है।
डा० अब्दुल अजीज खान ने कार्यक्रम का संचालन किया जबकि डा० अम्मार इब्ने अनवार ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

Related posts

डीएस कॉलेज की छात्र-छात्राओं द्वारा चलाया गया कोविड-19 के प्रति जन जागरूकता अभियान।

dnewsnetwork

अमुवि के शताब्दी समारोह में मुख्य अतिथि होंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

dnewsnetwork

अमुवि के 211 छात्र अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों में रोजगार व इंटर्नशिप के लिए चयनित

dnewsnetwork