अलीगढ़ देश

कोरोना संकट में मददगार साबित हो रहा ई-संजीवनी एप

-हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर के जरिए भी ले सकते हैं इस सेवा का लाभ
-मरीजों को काफी फायदा मिलेगा, 50 सेंटर पर मिल रही है सुविधा
अलीगढ़ 16 अक्टूबर 2020 । कोरोना संकट के बीच में ई-संजीवनी एप काफी मददगार साबित हो रहा। यह एप घर बैठे ही मरीजों को स्वास्थ्य परामर्श व सेवाएं दे रहा। अलीगढ़ जिले में एप के माध्यम से 792 लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ दिया गया। हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर में तैनात सीएचओ भी अपनी पूरी जिम्मेदारी निभाते हुए समुदाय के लोगों को एप के जरिए लाभ दे रहे हैं।
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी व नोडल अधिकारी डा. एस.पी सिंह ने बताया कि ईसंजीवनी एप के माध्यम से लोगों को घर बैठे ही स्वास्थ्य लाभ मिल रहा है। इससे मरीजों को काफी फायदा हुआ है। जिला कार्यक्रम प्रबंधक एमपी सिंह व जिला समुदाय प्रक्रिया प्रबंधक बीसीपीएम कमलेश चौरसिया ने बताया कि कोरोना काल में घर के नजदीक ही मरीजों को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए लगभग 50 हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर में ई-संजीवनी एप की सुविधा दी गई। अब तक अलीगढ़ जिले में ई-संजीवनी ऐप के माध्यम से 792 लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ दिया जा चुका है।
चंदौस ब्लॉक के बीसीपीएम श्याम बिहारी ने बताया कि इस एप के जरिए स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ उठाएं। इस ऐप के जरिए जनरल ओपीडी एवं गंभीर बीमारी से संबंधित वाले मरीज भी सेवा का लाभ उठा सकते हैं। इस ऐप का उपयोग अपने मोबाइल में प्ले स्टोर पर जाकर ईसंजीवनी एप डाउनलोड करके अपनी बीमारी का लाभ उठा सकते हैं जिससे आपको घर बैठे ई-संजीवनी ऐप के माध्यम से निशुल्क सेवा मिल सकेगी ।
लोग मोबाइल में एप डाउनलोड कर प्राप्त कर रहे लाभ
-नोडल अधिकारी ने बताया कि चंदौस ब्लॉक के पेराई क्षेत्र में तैनात लोगों ने इस सेवा का लाभ लिया। रोजाना आठ से 10 लोग संजीवनी एप को डाउनलोड कर इसका लाभ ले रहे हैं।
क्या कहते हैं लोग
घर के नजदीक मिल रही सुविधा: सावित्री
=पैराई गांव के 55 वर्षीय लाभार्थी सावित्री देवी ने बताया कि अब हमें आसानी से सुविधाएं घर के नजदीक ही मिल रही हैं। स्वास्थ्य विभाग का यह काम काफी अच्छा है। अब अस्पताल तक दौड़ नहीं लगाना पड़ती है ।

Related posts

वर्तमान समय में महिलाओं को आगे बढ़ाने की आवश्यकता: मिशन शक्ति

dnewsnetwork

30 अक्टूबर को आनलाइन वेबिनार में शामिल होंगे केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक

dnewsnetwork

जागरुकता ही बचाव है -स्वस्थ होकर घर वापस लौटे गौरव

dnewsnetwork